Answer for कैशिंग समय कैसा होता है

– इस वितरित और कैशिंग संरचना के एक उल्लेखनीय परिणाम के रूप में DNS रिकार्ड में परिवर्तन हमेशा तुरंत और दुनियाभर में प्रभावी नहीं होते। इसे एक उदाहरण के द्वारा अच्छी तरह से समझा जा सकता है।

– यदि किसी एडमिनिस्ट्रेटर होस्ट ने http://www.asian.org के लिये 6 घंटे के लिये TTL सेट किया है और इसके बाद आईपी पता जिसमें 12:01pm पर http://www.asian.org को सर्च करना है, एडमिनिस्ट्रेटर को यह सोचना चाहिये कि वह व्यक्ति जिसने 12:00 दोपहर में पुराने आईपी पते से एक प्रतिक्रिया को कैश्ड किया होगा, वह 6.00pm तक एक डीएनएस सर्वर से सम्पर्क नहीं कर सकेगा।

– इस उदाहरण में 12.01pm और 6.00pm के बीच की अवधि को कैशिंग समय कहा जाता है जोकि एक ऐसे समय के रूप में सर्वश्रेष्ठ ढंग से परिभाषित है जो तब शुरू होता है जब आप डीएनएस रिकार्ड में परिवर्तन करते हैं तथा तब समाप्त होता है जब टीटीएल द्वारा निर्दिष्ट समय की सीमा समाप्त हो जाती है। डीएनएस में परिवर्तन करते समय इसे एक महत्वपूर्ण तार्किक सोच के रूप में देखा जाता है।

– कैशिंग के संदर्भ में प्रयोग होने वाला शब्द प्रसार वास्तव में एक व्यापक रूप में प्रयोग किया जाता है। यह केवल कैशिंग के प्रभाव का वर्णन नहीं करता है बल्कि इसका अर्थ है कि जब आप एक डीएनएस परिवर्तित करते हैं, तो यह किसी तरह से

Back to top button