Answer for गोलाकार फ्यूज इकाई क्या होती है ?

गोलाकार फ्यूज इकाई का बाह्य आवरण बैकेलाइट अथवा पोर्सिलेन का बना होता है। इसकी आकृति गोल डिब्बी के समान होती है, जिसमें दो पृथक-पृथक् पीतल अथवा ताम्र (brass or copper) के टर्मिनल्स (terminlas) स्थापित होते हैं। इन टर्मिनलों के मध्य फ्यूज तार को लगाकर टर्मिनल्स में लगे पेचों (screws) की सहायता से कस दिया जाता है। इस प्रकार की फ्यूज इकाई में फ्यूज तार बदलने (replacement) के लिए सर्वप्रथम बैटरी/मेन्स का मुख्य स्विच ऑफ करना आवश्यक होता है, क्योंकि मुख्य स्विच को ऑफ किए बिना ही फ्यूज अवयव/तार बदलने से विद्युत झटका लगने की सम्भावना रहती है।

कारतूस प्रकार की फ्यूज इकाई (Cartridge Typed Fuse Unit)
कारतूस प्रकार की फ्यूज इकाई में विद्युतरोधी पदार्थ पोर्सिलेन टाइल अथवा शीशे से निर्मित कारतूस आकृति के समान एक बेलनाकार खोखली नली होती है। इस नली में दोनों सिरों पर एक पीतल धातु की टोपी (cap) लगाई जाती है। इन दोनों धातु टोपियों के मध्य नली के अन्दर उचित धारा निर्धारण वाला फ्यूज अवयव (fuseelement) राँग के टाँके द्वारा जोड़ा जाता है तथा इस फ्यूज अवयव के चारों ओर पूरक पदार्थ के रूप में क्वार्ट्ज सैण्ड (quartz sand) भरा जाता है। इस प्रकार के फ्यूज की नली के मध्य लाल रंग सूचक वृत्त (index circle) बना होता है जो कि फ्यूज इकाई के फ्यूज अवयव की सही स्थिति को दर्शाता है। अतिभार धारा अथवा लघु परिपथ दोष के कारण फ्यूज अवयव निर्धारण धारा (60-400 एम्पिय तक) से अधिक धारा प्रवाहित होने पर फ्यूज अवयव अति तप्त होकर पिघल जाता है। इस अवस्था में, लाल रंग के सूचनांक वृत्त का रंग काला हो जाता है। जब फ्यूज अवयव पिघल कर वाष्पित (vapourised) होता है तब यह ‘धातु वाष्प क्वार्ट्ज सैण्ड के द्वारा सोख ली जाती है तथा फ्यूज इकाई की नली की आन्तरिक सतह पर जमने से रुक जाती है।

परिपथ वियोजक युक्तियाँ Circuit Breaker Devices
ये अत्यन्त महत्त्व की वे युक्तियाँ हैं जोकि किसी भी अनुप्रयोग में धारा के प्रवाह को तत्काल रोक देने में सक्षम होती हैं।

अर्थ लीकेज परिपथ वियोजक Earth Leakage Circuit Breaker, ELCB
ऑटोमोबाइल उत्पाद धात्विक खोलयुक्त होने के कारण यदि उनमें सजीव चालक (live conductor) आंशिक रूप से धात्विक खोल को स्पर्श करने लगे तो लीकेज धारा के कारण ऑपरेटर को गम्भीर विद्युत झटका (electric shock) लग सकता है। ऐसी स्थिति में सुरक्षा प्रदान करने वाली युक्ति ELCB कहलाती है। यह युक्ति ‘रिले’ की भाँति धारा अथवा वोल्टेज चालित प्रकार की होती है और केवल 100 मिली एम्पियर लीकेज धारा पर ही प्रचालित हो सकती है। वाहन में ‘अर्थ’ दोष अथवा ‘लीकेज’ उपस्थित होने पर, ELCB लाइन को ‘ऑफ’ कर उसे विद्यत स्रोत से पृथक्कृत कर देती है।

Back to top button