Answer for नेटवर्क ट्रैफिक मैनेजमेंट किसे कहते है

कम्प्यूटर नेटवर्किंग में नेटवर्क ट्रैफिक को कंट्रोल करना ही नेटवर्क मैनेजमेंट कहलाता है। इसके अंतर्गत टैफिक को कंटोल करने और उसे घटाना, इंटरनेट बैंडविड्थ को सही रखना, नेटवर्क शेड्यूलर का प्रयोग करना इत्यादि प्रोसेस आते हैं।
 
– इस सब कार्यों को नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर के द्वारा अंजाम दिया जाता है। इन सबमें सबसे महत्वपूर्ण काम होता है बैंडविड्थ मैनेजमेंट। यह वास्तव में किसी भी नेटवर्क लिंक पर डेटा पैकेट को कंट्रोल करता है और उन्हें मापता भी है।
 
– इसकी वजह से डेटा पैकेट का लॉस नहीं हो पाता है। नेटवर्क ट्रैफिक मैनेजमेंट के अंतर्गत ट्रैफिक शेपिंग और ट्रैफिक पोलिसिंग नामक दो कम्पोनेंट आते हैं।
 
→ ट्रैफिक शेपिंग में डेटा पैकेटों को तब तक डिले किया जाता है जब तक कि उसके लिये जरूरी बैंडविड्थ उपलब्ध न हो जाये।
 
– ट्रैफिक पोलिसिंग में बैंडविड्थ के बढ़ जाने पर उसे डॉप करते हैं जब तक कि वह डेटा पैकेटों की जरूरत के अनुरूप न हो जाये।

Back to top button