Answer for प्वॉइण्ट व्यास किसे कहते है और ये कीतने प्रकार का होता है ?

टैप का एक साइज का तीन टैप का एक सैट होता है, जिनमें चैम्फर की लम्बाई अलग-अलग होती है। सबसे अधिक चैम्फर वाला टैप प्रथम तथा सबसे कम वाला तृतीय टैप होता है। सबसे पहले प्रथम नम्बर के टैप को चलाया जाता है। इसी टैप का आगे का सबसे छोटा व्यास प्वॉइण्ट व्यास (point diameter) कहलाता है।

प्रकार Types
टैप कई प्रकार के होते हैं, जिनमें से मुख्य निम्न प्रकार हैं

हैण्ड टैप Hand Tap
इस टैप को हाथ द्वारा चलाकर चूड़ियाँ काटी जाती हैं। इसकी टैंग वर्गाकार होती है। टैप को हाथ द्वारा घुमाने के लिए एक हैण्डिल का प्रयोग किया जाता है, जिसमें दोनों ओर हत्थे होते हैं तथा बीच में एक वर्गाकार झिरी (फिक्स या एडजस्टेबिल) होती है। अलग-अलग प्रकार की चूड़ियों के लिए अलग टैप सैट बनाए जाते हैं; जैसे-मीट्रिक, बी.एस.डब्ल्यू. आदि। एक सैट में तीन टैप होते हैं।

टेपर टैप Taper Tap
हाथ द्वारा चूड़ी काटते समय यह सबसे पहला टैप होता है। ISI में इसको रफर टैप (rougher tap) कहा गया है। इसके अन्त के कुछ दाँते (8 या 10) घिसकर टेपर कर दिए जाते हैं। इसकी टेपर लीड (taper lead) 4° होती है। इसके अन्त के व्यास को प्वॉइण्ट व्यास (point diameter) कहते हैं। यह उस होल के व्यास से छोटा होता है, जिसमें चूड़ियाँ काटनी हैं। इस प्रकार आसानी से यह होल में जाकर चूड़ियाँ काट सकता है। एक के बाद दूसरी चूड़ी गहराई को बढ़ाती जाती है तथा नई चूड़ी भी कटती जाती है। इस प्रकार पूरा टैप होल में नीचे तक प्रवेश कर जाता है। टैप को उल्टा घुमाकर बाहर निकाल लिया जाता है। इसके पश्चात् दूसरा व तीसरा टैप भी चला लिया जाता है।

इण्टरमीडिएट टैप Intermediate Tap
यह हैण्ड टैप सैट का दूसरा टैप है। इसे पहले टैप द्वारा रफ चूड़ी काटने के पश्चात् चलाया जाता है। इसकी भी 3-5 चूड़ी आगे से टेपर की गई होती हैं। इसकी टेपर लीड 10° होती है। यह टैप सही आकार की चूड़ियाँ बनाता है, परन्तु ब्लाइण्ड होल (blind hole) में आगे की चूड़ी सही आकार की नहीं बना पाता, इसलिए तीसरा फिनिशिंग टैप भी चलाना आवश्यक हो जाता है।

Back to top button