Answer for मल्टीपरपज इंटरनेट मेल एक्सटेंशन (MIME) किसे कहते है

MIME का अर्थ हैं, Multipurpose Internet Mail Extensions | इसका सबसे ज्यादा उपयोग इंटरनेट पर बाइनरी फाइल को ई-मेल अटैचमेंट (attachment) के रुप में भेजने में होता है। MIME ई-मैसेज को नॉन-ASCII फाइल जैसे – वीडियो इमेज या साउण्ड इत्यादि को रखने और यह नॉन-टेक्स्ट कैरेक्टर को टेक्स्ट कैरेक्टर में ट्रांसफर की तंत्रिका (mechanism) भी देता है।
 
ई-मेल मैसेज का स्ट्रक्चर
एक ई-मेल मैसेज प्राय: ASCII फॉर्मेट के रूप में एक बाइनरी डाटा का बना होता है। ASCII एक स्टैण्डर्ड है. जो इसे किसी भी कम्प्यूटर पर उसके सिस्टम और हार्डवेयर का ध्यान न करते हये टेक्स्ट को पढ़ने योग्य बनाता है। ASCII कोड जो आप कम्प्यूटर स्क्रीन पर देखते हैं, उस कैरेक्टर की भी व्याख्या करता है। आप अपने ई-मेल मैसेज में तस्वीरें, एक्जिक्यूटेबल प्रोग्राम, ध्वनि, चलचित्र और दूसरी बाइनरी फाइलें भी भेज सकते हैं।
To विकल्प के अंतर्गत आप उस आदमी का ई-मेल एड्रेस टाइप करें जिसे आप मेल भेजना चाहते हैं। एड्रेस को एक स्ट्रिक्ट नियम के अंतर्गत टाइप करें। अगर आपने कोई अक्षर या सिंटैक्स गलत टाइप किया है, तो मैसेज सही ग्राहक को नहीं पहुंचेगी।
– आपका अपना ई-मेल एड्रेस From लाइन में उपस्थित होता है, इस एड्रेस का उपयोग कर ग्राहक आपके मैसेज का उत्तर दे सकेगा।
सब्जेक्ट लाइन पर आप अपने मैसेज को संक्षिप्त में टाइप करें। मैसेज के नीचे “सिग्नेचर” एरिया होता है, जो आपके बारे में व्यक्तिगत सूचना देता है। कुछ मेल प्रोग्राम अपने आप इस सिग्नेचर को आपके प्रत्येक मैसेज के नीचे जोड़ कर भेजता रहता है। सिग्नेचर एरिया को आवश्यकता नहीं होती, इसे आवश्यकतानुसार यूजर बनाते हैं। सिग्नेचर एरिया पाँच लाइन से अधिक नहीं होना चाहिए।
ई-मेल मैसेज के पाँच भाग होते हैं
ई-मेल एड्रेस (E-mail address)
हेडर (Header)
बॉडी (Body)
सिग्नेचर (Signature)(ऑप्शनल)
अटैचमेंट (Attachments)(ऑप्शनल)

Back to top button