Answer for यलॉन की क्या विशेषताएं होती है

1. संगठन : यह रासायनिक रेशा है जिसमें कई रासायनिक द्रव्यों का मिश्रण है। इसलिए इसका रासायनिक नाम पॉलीमाइड (polymide) है।

2. अणुवीक्षणीय रचना एवं रूप (Microscopic structure and appearance) : रासायनिक सम्मिश्रण होने के कारण और इकहरे धागे से निर्मित वस्त्र पूर्णतः गोलाकार दिखाई पड़ता है और पूर्णत: पारदर्शी रेशे गोल चित्तियों से युक्त दिखाई देते हैं।

3. तन्तुओं की लम्बाई व मज़बूती (Length and strength of fiber) : यह एक रासायनिक तन्तु है और इसके फिलामैंट रेशे ही बनते हैं। चाहें तो छोटे भी अर्थात staple भी निकाल सकते हैं। मज़बूती में यह किसी से कम नहीं हैं।

4. रंग व चमक (Colour and Luster) : रासायनिक रेशा होने से इसमें चमक होती है जो कि पहनने वाले वस्त्रों में अच्छी नहीं लगती है। अतः इसके घोल में ही चमक को कम करने के लिए टाईटेनियम ऑक्साइड (titanium oxide) तथा बेरियम सल्फेट (barium sulphate) को जिंक ऑक्साइड (zinc oxide) के अनुपातिक मात्रा में मिला कर डाल देते हैं जिससे जितनी कम या अधिक चमक चाहिए उतनी ही मिल सकती है।

5. रेशों की लचक (Elasticity) : जो स्ट्रैच धागों से वस्त्र बनते हैं उसमें तो लचक होती ही है। यानि खींचने पर फैल कर पुनः अपना पूर्व रूप पकड़ लेते हैं। यहां तक कि nylon has good elastic recovery, fatigue resistance and thermal stabiltiy। यह सब नायलॉन के धागों के वस्त्रों के लिए ही कहा गया है। नायलॉन हौजरी के वस्त्र स्ट्रैच धागे से ही बनते हैं।

6. प्रतिस्कंदता का गुण (Resiliency) : इस गुण में नायलॉन बहुत आगे है।

7. शिकन न आना (Crease resistance) : इसकी बनावट इस प्रकार से होती है कि इसको कैसे भी प्रयोग करें शिकन नहीं पड़ती है। यह ताप सुनम्य रेशा है जो आकार एवं आकृति में हीट सैट कर दिए जाते हैं, नायलॉन वस्त्र उसी में स्थिर रहते हैं। इसके कुछ धागों के द्वारा बने वस्त्रों में तन्यता काफी होती है।

8. रेशों में सोखने का गुण व आर्द्रता (Absorbency and Moisture) : इसमें पानी को सोखने का गुण नहीं होता है क्योंकि इनकी सतह चिकनी होती है अतः पानी ऊपर से ही बह जाता है।

9. रेशों की कोमलता व सूक्ष्मता : महीन तार से अर्थात महीन रेशों की बुनाई के कारण वस्त्र कोमल होते हैं और सूक्ष्म जीवाणु (micro-organism and bacterial resistance) प्रतिरोधक क्षमता बहुत होती है। लापरवाही से पड़े हुए कपड़ों पर भी कुछ खराबी नहीं होती है।

10. फफूंदी का प्रभाव : इसमे फफूंदी भी नहीं लगती है।

Back to top button