Answer for सीरिज टेस्टिंग बोर्ड के द्वारा उपकरण की जांच कैसे की जाती है ?

सीरिज टेस्टिंग बोर्ड के टू या थ्री पिन सॉकिट में उस उपकरण को लगाया जाता है, जिसे हम टेस्ट करना चाहते हैं। उपकरण को इस बोर्ड के साथ लगा देने पर यदि इस बोर्ड पर लगा बल्ब नहीं जलता, तो इसका अर्थ है कि वह उपकरण ओपन है। यदि बोर्ड पर लगा बल्ब अपनी पुरी रोशनी से जलता है तो इसका अर्थ है कि वह उपकरण शार्ट है, तथा यदि बोर्ड पर लगा बल्ब धीमे प्रकाश के साथ जलता है तो इसका अर्थ है कि वह उपकरण बिलकुल ठीक है। इस प्रकार इस बोर्ड की सहायता से किसी उपकरण के ओपन, शार्ट या सही होने की जांच की जा सकती है।

पैरलल-सीरिज टेस्टिंग बोई
इस टेस्टिंग बोर्ड के नाम से ही स्पष्ट है कि इस बोर्ड में सीरिज और पैरलल दोनों ही सर्किट बनी हुई होती है। इस पैरलल-सीरिज टेस्टिंग । बोर्ड की सर्किट को साथ पैरेलल-सीरिज दिए गए चित्र के द्वारा टेस्टिंग बोई समझा जा सकता है। इस बोर्ड में एक बार में केवल एक ही । सर्किट अर्थात् पैरलल सर्किट या सीरिज सर्किट कार्य करती है। इस कार्य के लिये अर्थात् सीरिज सर्किट या पैरलल सर्किट में से किसी एक को चुनने के लिये इसमें एक वन पोल-टू वे स्विच का उपयोग किया जाता है।
सीरिज सर्किट का उपयोग किसी उपकरण के ओपन, शार्ट या सही होने की चेकिंग के लिये किया जाता है। जबकि पैरलल सर्किट का उपयोग किसी बल्ब को चेक करने या किसी रिपेयर किये गये उपकरण की फाईनल टेस्टिंग के लिये किया जाता है। इस बोर्ड पर बने पैरलल सर्किट में बहुत सारे बल्ब होल्डरें लगाकर रंगीन बल्ब भी लगाये जा सकते हैं।

Back to top button