Answer for स्टीयरिंग गियर अनुपात किसे कहते है ?

स्टीयरिंग व्हील के चक्करों की संख्या तथा स्टीयरिंग गियर बॉक्स शाफ्ट के चक्करों की संख्या के अनुपात को ‘स्टीयरिंग गियर अनुपात’ कहते हैं, क्योंकि स्टीयरिंग बॉक्स शाफ्ट बहुत कम घूमती है। अत: स्टीयरिंग व्हील जितने डिग्री घूमता है और उससे बॉक्स शाफ्ट जितने डिग्री घूमती है, उन दोनों के अनुपात को स्टीयरिंग गियर अनुपात कहते हैं। हल्के ट्रैक्टरों में यह अनुपात कम व भारी ट्रैक्टरों में अधिक होता है।

स्टीयरिंग प्ले एडजस्टमेन्ट Steering Play Adjustment
ट्रैक्टर स्टीयरिंग का सेक्टर प्रायः बुश बियरिंग में घूमता है तथा वर्म के नीचे बॉल अथवा टेपर रोलर बियरिंग का प्रयोग किया जाता है। ट्रैक्टर के ऊँची-नीची भूमि पर झटके के साथ चलने से स्टीयरिंग में प्ले आ जाती है। इससे स्टीयरिंग ठीक प्रकार कार्य नहीं करता है तथा शक्ति भी अधिक लगानी पड़ती है। इस प्ले को ठीक करने के लिए स्टीयरिंग गियर बॉक्स में नीचे तथा साइड में प्ले एडजस्टमेन्ट स्क्र की व्यवस्था की जाती है।

शू एडजस्टमेन्ट एवं मरम्मत Shoe Adjustment and Maintenance
स्टीयरिंग बाई ब्रेक मैकेनिकल ब्रेक होता है और इसकी एडजस्टमेन्ट उसी ब्रेक की तरह होती है। इसकी ब्रेक लगाने की क्षमता उससे अधिक होती है। ट्रैक्टर इंजन की क्षमता अधिक होने के कारण और केवल शू से ही अधिक कार्य किये जाने के कारण ब्रेक शू अधिक घिसता है। इस कारण समय-समय पर एडजस्टिंग स्क्रू से एडजस्ट करते रहना चाहिए। स्टीयरिंग बाईं क्लच की एडजस्टमेन्ट के लिए इसके कण्ट्रोल वाल्व की एडजस्टमेन्ट करनी चाहिए। साथ ही हाइड्रॉलिक फ्ल्यूड के फिल्टर, प्रेशर पाइप, प्रेशर मीटर को चैक करते रहना चाहिए। इसके अतिरिक्त चैक वाल्व या रिलीफ वाल्व भी चैक करते रहना चाहिए। इनके साथ-साथ स्पोकिट, चेन एडजस्टिंग यूनिट आइडलर व्हील, चेन पिन के नट-बोल्ट समय-समय पर चैक करते रहना चाहिए।

फट स्टीयरिंग पैडल Foot Steering Pedal
यदि हम ट्रैक्टर के दोनों ब्रेक पैडलों को लॉक करने वाला मीटर हटा दें, तत्पश्चात् अगर दाएँ ब्रेक पैडल पर दबाव देंगे तो दायाँ ब्रेक ड्रम जाम हो जाएगा, लेकिन बाएँ ओर का व्हील चलता रहेगा और ट्रैक्टर को दाएँ ओर घुमा देगा। इसके विपरीत यदि बाएँ ब्रेक पैडल पर दबाव देंगे तो बाएँ ब्रेक ड्रम जाम हो जाएगा, लेकिन बाएँ ओर का व्हील चलता रहेगा और ट्रैक्टर को बाएँ ओर घुमा देगा।

Back to top button