Answer for Basic Electricity and Electronics क्या होते है

अभियान्त्रिकी के सभी व्यवसाय किसी-न-किसी रूप में एक-दूसरे से परस्पर सम्बद्ध होते हैं, क्योंकि उनके मध्य परस्पर निर्भरता रहती है; जैसे-मैकेनिक ट्रैक्टर ट्रेड का यदि पूर्ण अध्ययन करना है, तो उसके लिए यह अध्याय भी पढ़ा जाना चाहिए, क्योंकि इसमें विद्युत आधारित पाठ्य तथा उसका मैकेनिक ट्रैक्टर ट्रेड में उपयोगों का समावेश किया गया है। ‘मैकेनिक ट्रैक्टर’ ट्रेड सम्बन्धी कार्यकलापों में मौलिक इलेक्ट्रिसिटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स का भी उपयोग किया जाता है। अत: इन सम्बन्धी ज्ञान के अभाव में पूर्ण सम्बन्धित अध्ययन सम्भव नहीं। डीजल आधारित इंजनों द्वारा हॉर्न बजाने, लाइट जलाने एवं इंजन को स्वत: स्टार्ट करने जैसे कार्यों हेतु जहाँ विद्युत की आवश्यकता होती है वहीं विभिन्न प्रकार की स्वत: नियन्त्रण प्रणालियों हेतु इलेक्ट्रॉनिक अवयवों की अनिवार्यता बनी रहती है, इसलिए प्रशिक्षु को मौलिक इलेक्ट्रिसिटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स व डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स का सम्बन्धित ज्ञान प्रदान करने हेतु इस अध्याय को पाठ्यक्रम में सम्मिलित किया गया है।

मौलिक विद्युत Basic Electricity
विद्युत; ऊर्जा का एक स्वरूप है जिसका प्रयोग विविध कार्यों के लिए लगभग सभी क्षेत्रों में किसी-न-किसी रूप में किया जाता है। हम यह भली प्रकार जानते हैं कि परमाणु मुख्यतः इलेक्ट्रॉन, प्रोटॉन एवं न्यूट्रॉन से मिलकर बना होता है। विद्युत धारा के प्रवाह के लिए प्रकृति का मूल कण इलेक्ट्रॉन उत्तरदायी है। मौलिक वैद्युतिकी से आशय यहाँ विद्युत सम्बन्धी मूल ज्ञान को अर्जित करने से है।

सम्बन्धित पदावली Related Terminology
वैद्युतिकी को समझने के लिए उससे सम्बन्धित पदों की जानकारी अवश्य होनी चाहिए, जिनका विवरण यहाँ पर दिया जा रहा है।

विद्युत आवेश Electric Charge
किसी पदार्थ के विद्युत आवेश की व्याख्या, उसमें इलेक्ट्रॉन्स की अधिकता एवं कमी से होती है। विद्युत आवेश को कूलॉम (coulomb) में मापा जाता है। कूलॉम के प्रथम नियमानुसार विद्युत के समान आवेश एक-दूसरे को परस्पर विकर्षित (repel) करते हैं तथा असमान आवेश एक-दूसरे को आकर्षित (attract) करते हैं।

Back to top button