Question Paper

Junior Engineer Electrical Question Paper in Hindi

Junior Engineer Electrical Question Paper in Hindi

किसी भी परीक्षा की तैयारी करते समय आपको उस परीक्षा के सोल्ड प्रश्नपत्र को देखना चाहिए जिससे कि आपको यह पता चलेगा कि इस परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे गए थे. तो अगर आप Junior Engineer Electrical की तैयारी कर रहे हैं तो इस पोस्ट में हम आपको Junior Engineer Electrical का एक साल्व्ड प्रश्न पत्र दे रहे हैं जिसे आप खुद भी हल कर सकते हैं और अपनी तैयारी को बेहतर कर सकते हैं और साथ में ही इसके उत्तर दिए गए हैं जिससे आपको इसका सही उत्तर भी मिल जाएगा.


1. FET का निवेश प्रतिरोध होता है।
• 100ᘯ
• 10kᘯ
• 1Mᘯ
• 100 Mᘯ

उत्तर. 100 Mᘯ

2. एक प्रेरक को ज्यावक्रीय वोल्टता स्रोत से पूर्ति की जाती है। प्रेरक में चुम्बकीय क्षेत्र ऊर्जा शिखर मान से बदल कर 10 msec में न्यूनतम मान पर पहुँच जाती है। पूर्ति आवृत्ति


• 50 Hz
• 25 Hz
• 1 KHz
• 100 Hz

उत्तर. 25 Hz

3. 5 घण्टे तक 2 hp (ब्रिटिश) विकसित कर रही मोटर द्वारा कितने वॉट-सेकेण्ड की पूर्ति की जाती है?
• 2.6856 X 107 वाट-सेकेण्ड
• 4.476 X 105 वाट-सेकेण्ड
• 2.646 X 107 वाट-सेकेण्ड
• 6.3943 X 106 वाट-सेकेण्ड

उत्तर. 2.6856 X 107 वाट-सेकेण्ड

4. एक B.O.T. इकाई होती है?


• 1000 KWh
• 10 KWh
• 1 KWh
• 0.1 KWh

उत्तर. 1 KWh

5. किसी d.e, मशीन में अंतराध्रुवों का कार्य क्या होता है?
• क्षेत्र कुंडली के तापन को कम करना
• दिक्परिवर्तन में सुधार करना
• वायु-अंतराल परिवर्तन का प्रतिकार करना
• हानि कम करना

उत्तर. दिक्परिवर्तन में सुधार करना

6. किसी कुण्डली में प्रेरित वि.वा. बल (em) मिलता है। e = – N dϕ/dt से, जहाँ e है प्रेरित वि.बा. बल (emi), N है वर्तनों की संख्या और dp है काल dϕ में कुण्डली के साथ तात्कालिक फ्लक्स ग्रन्थिता। व्यंजक में ऋण चिह्न है?
• हंस क्रिश्चियन ओटेंड के कारण
• आन्द्रे-मारी ऐम्पियर के कारण
• माइकल फैराडे के कारण
• एमिल लेन्ज़ के कारण

उत्तर. एमिल लेन्ज़ के कारण

7. एक 3-कला 400 V,4-तार तंत्र में, दो तापदीप्त लैम्प, एक 230 V, 100 w विनिर्देश वाला और दूसरा 230 V, 200 W विनिर्देश वाला, क्रमश: R कला-न्यूट्रल तथा Y कला न्यूट्रल के बीच संयोजित हैं। यदि न्यूट्रल तार टूट जाए, तो


• 100 W लैम्प पहले फ्यूज होगा
• 200 W लैम्प पहले फ्यूज होगा
• दोनों लैम्प एक साथ फ्यूज होंगे
• दोनों लैम्प दीप्त होंगे

उत्तर. 100 W लैम्प पहले फ्यूज होगा

8. प्रेरण प्रकार के किसी उपकरण में चालन बल-आघूर्ण को अधिकतम करने के लिए, पार्श्व कुण्डली तथा श्रेणी कुण्डली द्वारा बनाया गया फ्लक्स होना चाहिए?


• एक-दूसरे के साथ कला में
• एक-दूसरे के साथ समकोणिक स्थिति में
• परस्पर 45° पर विस्थापित
• परस्पर भिन्न कला में

उत्तर. एक-दूसरे के साथ समकोणिक स्थिति में

9. चुम्बकीय परिपथ में प्रतिष्टम्भ की इकाई है?


• AT/M
• Weber/M
• AT/Weber
• Weber/AT

उत्तर. AT/Weber

10. किसी d.c मशीन का दिक्परिवर्तक किस रूप में कार्य करता है?
• यांत्रिक प्रतीपक
• यांत्रिक दिष्टकारी
• धारा नियंत्रक
• या (A) या (B)

उत्तर. या (A) या (B)

11. d.c. मशीनों में अक्रिय कुंडली लगाने का उद्देश्य क्या है?
• मशीन में उत्पन्न संनादी का विलोपन
• आर्मेचर प्रतिक्रिया का विलोपन
• आर्मेचर में यांत्रिक संतुलन लाना
• मोटर के ढाँचे में यांत्रिक संतुलन लाना

उत्तर. आर्मेचर में यांत्रिक संतुलन लाना

12. निम्न में से कौनसा सही है?
• भार गुणक = धारिता गुणक X उपयोग गुणक
• उपयोग गुणक = धारिता गुणक X भार गुणक
• धारिता गुणक = भार गुणक X उपयोग गुणक
• भार गुणक का धारिता गुणक और उपयोग गुणक के साथ कोई सम्बन्ध नहीं है

उत्तर. धारिता गुणक = भार गुणक X उपयोग गुणक

13. कोई व्यास d और समग्र व्यास D वाले एक विद्युत रोधित केबिल में अधिकतम और न्यूनतम परावैद्युत प्रतिबल का अनुपात दिया जाता है?
• (D/D)1/2 द्वारा
• (D/D)2 द्वारा
• Dd द्वारा
• D/D GRT

उत्तर. Dd द्वारा

14. जब एक शुद्ध इंडक्टिव क्वायल को समिश्र वोल्टेज तरंग द्वारा भरा जाता है तो इसकी धारा तरंग
• में वृहद हार्मोनिक वस्तु होती है
• अधिक विछिन्न होती है
• वोल्टेज तरंग से सममित होती है
• विछिन्नता प्रकट करती है

उत्तर. विछिन्नता प्रकट करती है

15. एक वाटमापी 15 A/30A, 300 V/600 V अंकित है और उसकी मापनी (पैमाना) 4500 वाट तक अंकित है। जब मापी को 30 A, 600 के लिए संयोजित किया गया, तो सूचक ने 2000 वाट दिखाया। परिपथ में वास्तविक शक्ति है –


• 2000 वाट
• 4000 वाट
• 6000 वाट
• 8000 वाट

उत्तर. 8000 वाट

16. नॉन-साइनोसॉइडल तरंग रूप ……. के बने होते हैं।


• भिन्न ज्वावक्रीय तरंग रूपों
• मौलिक एवं सम हार्मोनिक्स
• मौलिक एवं विषम हार्मोनिक्स
• केवल सम एवं विषम हार्मोनिक्स

उत्तर. भिन्न ज्वावक्रीय तरंग रूपों

17. प्रतिरोध स्विचन प्रायः प्रयोग किया जाता है?


• थोक तेल वियोजकों में
• न्यूनतम तेल वियोजकों में
• वात्या परिपथ वियोजकों में
• A, B तथा C सभी में

उत्तर. वात्या परिपथ वियोजकों में

18. विपरीत दिशाओं में धारा ले जा रहे दो पाश्र्व चालक एक – दूसरे पर डालेंगे –


• आकर्षक बल
• प्रतिकर्षी बल
• अक्षीय बल
• कोई बल नहीं

उत्तर. प्रतिकर्षी बल

19. लौह पटल में सिलिकॉन की मात्रा 5% तक रखी जाती है, क्योंकि यह –


• द्रव्य को भंगुर बना देता है
• क्यूरी तापांक को कम करता है
• शैथिल्य हानि को बढ़ाता है
• लागत बढ़ाता है

उत्तर. द्रव्य को भंगुर बना देता है

20. किसी अर्ध-तरंग दिष्टकारी की निर्गम वोल्टता का शिखर मान 100V है। अर्ध-तरंग दिष्टकारी निर्गम वोल्टता का r.m.s, मान होगा?


• 100 V
• 50 V
• 70.7V
• 35.35V

उत्तर. 50 V

21. dc मशीन के दिक्परिवर्तक के खण्ड किससे बनते हैं?


• टंग्स्टेन
• कठोर कर्षित ताँबा
• नरम ताँबा
• विद्युत अपघट्य ताँबा

उत्तर. कठोर कर्षित ताँबा

22. दो एक कलीय αc मोटरें A तथा B एक 1000 V पूर्ति से चलती हैं। A 0.8 के शक्ति गुणक (पश्चगामी) पर 2kW की खपत करता है और B 0.5 के शक्ति गुणक (पश्चगामी) पर 1 kW की खपत करता है। पूर्ति से ली गई कुल धारा है लगभग –


• 4.5 A
• 2.1 A
• 4.41 A
• 9 A

उत्तर. 4.41 A

23. एक 4-ध्रुव जनरेटर 1200 rpm पर चल रहा है। उसकी कुण्डलियों में जनित वि.वा. बल (emf) की आवृत्ति तथा काल अवधि हैं क्रमश:


• 50Hz, 0.02 Sec.
• 40Hz, 0.025 Sec.
• 300Hz, 0.00333 Sec.
• 2400 Hz, 1/400 Sec.

उत्तर. 40Hz, 0.025 Sec.

24. परिपथ भंजक में ……… द्वारा शॉर्ट-सर्किट सुरक्षा प्रदान की जाती है।


• चुम्बकीय व थर्मल मुक्ति
• थर्मल मुक्ति
• चुम्बकीय मुक्ति
• निम्न वोल्टेज मुक्ति

उत्तर. थर्मल मुक्ति

25. एक वैद्युत तापक किसी 250V स्रोत से 1000 वाट लेता है। 200V स्रोत से ली गई शक्ति है?
• 800 W
• 640 W
• 1000 W
• 1562.5 W

उत्तर. 640 W

26. वेल्डन के उद्देश्य से, प्रयुक्त परिणामित्र का द्वितीयक सक्षम होना चाहिए वहन करने के लिए?


• उच्च वोल्टता, उच्च धारा
• उच्च वोल्टता, निम्न धारा
• निम्न वोल्टता, उच्च धारा
• निम्न वोल्टता, निम्न धारा

उत्तर. निम्न वोल्टता, उच्च धारा

27. एक टंकी परिपथ में होता है –


• श्रेणी में संयोजित एक प्रेरक और एक संधारित्र
• पाश्र्व में संयोजित एक प्रेरक और एक संधारित्र
• श्रेणी में संयोजित एक शुद्ध प्रेरकत्व और एक शुद्ध धारिता
• पाश्र्व में संयोजित एक शुद्ध प्रेरकत्व और एक शुद्ध धारिता

उत्तर. पाश्र्व में संयोजित एक शुद्ध प्रेरकत्व और एक शुद्ध धारिता

28. 3 – कला तुल्यकालिक मोटर को …….. में विकसित बल-आघूर्ण का उपयोग करके प्रवर्तित किया जाता है।
• उच्च-चाल भाप टरबाइन
• रोटर पर अवमंदक कुंडली
• स्टेटर पर अवमंदक कुंडली
• निम्न चाल जल टरबाइन

उत्तर. रोटर पर अवमंदक कुंडली

29. n – प्रकार के अर्धचालक के लिए, मादन द्रव्य है


• चतु:संयोजक
• पंचसंयोजक
• त्रिसंयोजक
• द्विसंयोजक

उत्तर. पंचसंयोजक

30. एक ज्यावक्रीय वोल्टता स्रोत से R – L भार की पूर्ति कर रहे 1 – कला श्रेणी परिपथ की तात्क्षणिक शक्ति के प्रत्येक चक्र में होते हैं?


• ऋणात्मक दो बार, शून्य चार बार
• शून्य दो बार, ऋणात्मक एक बार
• ऋणात्मक चार बार, शून्य दो बार
• ऋणात्मक दो बार, शून्य एक बार

उत्तर. ऋणात्मक दो बार, शून्य चार बार

31. एक संतुलित 3-कला परिपथ में, लाइन धारा 12A है। जब शक्ति को दो वाटमापी विधि से मापा गया, तो एक मापी का पाठ्यांक 11 kW है जबकि दूसरे का पाठ्यांक शून्य है। भार का शक्ति गुणक है?


• 0
• 0.5
• 0.866
• 1.0

उत्तर. 0.5

32. एक लम्बे स्थायी दण्ड चुम्बक के सिरे पर कुल फ्लक्स 100 x 10 -6 Wb है। इस चुम्बक का सिरा एक 1000 आवर्त कुण्डली में से 1/20 सेकेण्ड में खींचा गया। कुण्डली में प्रेरित वि.वा. बल (emf) है?


• 20.0V
• 2.0V
• 0.2V
• 0.02 V

उत्तर. 2.0V

33. जब किसी वर्तमान वोल्टमापी का परिसर बढ़ाने के लिए उसमें एक गुणक जोड़ा जाए, तो उसका विद्युत-चुम्बकीय अवमंदन
• अप्रभावित रहता है
• बढ़ता है
• घटता है
• नियंत्रक बल-आघूर्ण के आधार पर कुछ परिवर्तित होता है

उत्तर. घटता है

34. तुषरित GLS लैम्पों के मामले में, तुषारण किया जाता है?


• अम्ल उत्कीर्णन द्वारा
• अमोनिया द्वारा
• ओजोन द्वारा
• लवण जल द्वारा

उत्तर. अम्ल उत्कीर्णन द्वारा

35. सूचक यंत्रों में स्प्रिंगों का प्रयोग किया जाता है मुख्यत:


• धारा को कुण्डलियों तक ले जाने के लिए
• कीलक की यथास्थिति बनाए रखने के लिए
• संकेतक गति के नियंत्रण के लिए
• संकेतक के कम्पन को कम करने के लिए

उत्तर. संकेतक गति के नियंत्रण के लिए

36. किसी मोटर प्रवर्तक में, वैद्युत-यांत्रिक संपर्कत्र किसके प्रति अंतर्निहित सुरक्षा उपलब्ध कराता है?
• अति धारा
• लघु पथ
• एक कलायन
• अव-वोल्टता

उत्तर. अव-वोल्टता

37. उच्च वोल्टता केबिल में वायु की लघु कोटरिकाएँ (पॉकिटें) ……… आपेक्षिक चुम्बकशीलता, ………… विद्युत-क्षेत्र उपलब्ध कराती हैं और इन स्थलों पर भंजन आरम्भ हो सकता है।


• उच्च, उच्च
• निम्न, निम्न
• निम्न, उच्च
• उच्च, निम्न

उत्तर. निम्न, उच्च

38. एक de श्रेणी मोटर का आर्मेचर प्रतिरोध 0.062 है और श्रेणी क्षेत्र प्रतिरोध 0.082 है। मोटर 400 V पूर्ति के साथ संयोजित है। मशीन की चाल 1100 rpm होने पर लाइन धारा 20A है। यदि लाइन धारा 50A हो और उत्तेजन को 30% बढ़ा दिया जाए, तो मशीन की चाल rpm में है?
• 1100
• 1003
• 837
• 938

उत्तर. 837

39. निम्न में से कौनसा दो प्रेरकों के बीच युग्मन के गुणांक का सही मान है?


• 1,414
• 0.9
• 1.732
• 17.32

उत्तर. 0.9

40. एक सन्तुलित 3 – कला, 3 – तार आपूर्ति संतुलित तारा बन्धित प्रतिरोधकों का भरण करती है। यदि एक प्रतिरोधक को वियोजित कर दिया जाए, तो भार में प्रतिशत कमी होगी?
• 33.33
• 50
• 66.67
• 75

उत्तर. 50

41. 100 KVA, 1100/220 वोल्ट, 50 Hz वाले एक वितरण परिणामित्र के उच्च वोल्टता तथा निम्न वोल्टता कुंडली प्रतिरोध क्रमशः 0.1ᘯ और 0.004ᘯ हैं। उच्च वोल्टता पक्ष और निम्न वोल्टता पक्ष को निर्दिष्ट तुल्य प्रतिरोध हैं क्रमश: –


• 2.504ᘯ और 0.2ᘯ
• 0.2ᘯ और 0.008ᘯ
• 0.10016ᘯ और 2.504ᘯ
• 0.008ᘯ और 0.10016ᘯ

उत्तर. 0.2ᘯ और 0.008ᘯ

42. किसी परिपथ वियोजक की वियोजन क्षमता की तुलना में उसकी संयोजन क्षमता होनी चाहिए?


• अधिक
• कम
• बराबर
• दोनों का आपस में कोई सम्बन्ध नहीं

उत्तर. अधिक

43. एक ac परिपथ में V = (200 + j40) V तथा 1= (30 – j10) A हैं। तदनुसार उस परिपथ की सक्रिय तथा प्रतिघाती शक्तियाँ क्रमशः कितनी होंगी?
• 6400 W, 800 VAR धारित
• 6400 W, 800 VAR प्रेरणिक
• 5600 W, 3200 VAR धारित
• 5600 W, 3200 VAR प्रेरणिक

उत्तर. 5600 W, 3200 VAR प्रेरणिक

44. दो 2000ᘯ, 2 वाट प्रतिरोधक पार्श्व में संयोजित किए गए हैं। उनका संयुक्त प्रतिरोध मान और वाट दर हैं?
• 1000ᘯ, 2 वाट
• 1000ᘯ, 4 वाट
• 2000ᘯ, 4 वाट
• 2000ᘯ, 2 वाट

उत्तर. 1000ᘯ, 4 वाट

45. 300 kW का एक प्रत्यावर्तित्र, 4% चाल नियमन पर एक मुख्य चालक से चलाया गया है। एक अन्य 200 kW का प्रत्यावर्तित्र, 3% चाल नियमन पर चलाया गया है। यदि वे दोनों समान्तर चालू हों, तो बिना अतिभारित हुए, वे दोनों मिलकर कितना भार वहन कर सकते हैं?


• 500 KW
• 567 KW
• 425 KW
• 257 KW

उत्तर. 425 KW

46. 1 – कला A श्रेणी परिपथ में, जिसका भरण वोल्टता स्रोत से होता है, प्रतिरोध और प्रतिघात मान प्रत्येक में 4 ओम हैं। इस परिपथ में
• धारा, वोल्टता से 45° आगे है
• धारा, वोल्टता से 45° पीछे है
• धारा, वोल्टता से 60° पीछे है
• उपर्युक्त में से कोई नहीं

उत्तर. धारा, वोल्टता से 45° पीछे है

47. एक श्रेणी R – L परिपथ में, जिसकी पूर्ति एक ज्यावक्रीय वोल्टता स्रोत से होती है, R तथा L के आर-पार वोल्टता क्रमश: 3V और 4V है। तो पूर्ति वोल्टता है?
• 7V
• 1V
• 3.5V
• 5V

उत्तर. 5V

48. एक गीजर को 230 V, 50 c/s मेन्ज़ से चलाया जाता है। गीजर द्वारा उपभुक्त तात्क्षणिक शक्ति की आवृत्ति है?
• 25 C/S
• 50 C/S
• 100 C/S
• 150 C/S

उत्तर. 100 C/S

49. यदि किसी पृथकतः उत्तेजित d.c. मोटर के आर्मेचर टर्मिनलों को प्रदाय ध्रुवता उत्क्रमित कर दी जाए, तो मोटर चलेगी?
• प्लगन स्थिति के अन्तर्गत
• पुनर्योजी आरोधन (ब्रेकन) स्थिति के अन्तर्गत
• गतिक आरोधन (ब्रेकन) स्थिति के अन्तर्गत
• सामान्य मोटरिंग स्थिति के अन्तर्गत

उत्तर. प्लगन स्थिति के अन्तर्गत

50. अर्धचालक में, प्रतिरोधकता
• ताप पर निर्भर करती है
• वोल्टता पर निर्भर करती है
• उसमें से जाने वाली धारा पर निर्भर करती है
• उपर्युक्त में से कोई भी नहीं

उत्तर. ताप पर निर्भर करती है

51. भू-सम्पर्कित कोष वाली एक 3 – क्रोड़ केबल के किन्हीं दो क्रोड़ों के बीच मापी गई धारिता 3μF है। प्रति कला धारिता होगी?


• 1.5μF
• 6μF
• LμF
• इनमें से कोई नहीं

उत्तर. 6μF

52. ट्यूब लाइट में चोक लगाने का उद्देश्य है?


• कोरोना प्रभावों को दूर करना
• रेडियो व्यतिकरण से बचना
• शक्ति गुणक में सुधार करना
• धारा को उपयुक्त मान तक सीमित रखना

उत्तर. धारा को उपयुक्त मान तक सीमित रखना

53. तीन 3μF संधारित्र श्रेणी में हैं। इस श्रेणी व्यवस्था के साथ एक 6μF संधारित पाश्र्व में हैं। इस संयोजन की तुल्य धारिता है?
• 7μF
• 15μF
• 3.6μF
• 1μF

उत्तर. 7μF

54. हमारे पास तीन प्रतिरोध हैं जिनका मान 1ᘯ, 2ᘯ और 3ᘯ है। यदि तीनों प्रतिरोधों को एक परिपथ में संयोजित करना हो, तो तुल्य प्रतिरोध के कितने भिन्न मान सम्भव हैं?
• पाँच
• छह
• सात
• आठ

उत्तर. आठ

55. लोहचुम्बकीय क्रोड के एक प्रेरक को ज्यावक्रीय वोल्टता स्रोत से आवृत्ति ‘?’ की धारा दी गई है। तदनुसार, उस प्रेरक द्वारा कर्षित धारा कैसी होगी?
• आवृत्ति ? सहित ज्यावक्रीय
• आवृत्ति ‘2?’ सहित ज्यावक्रीय
• आरा-दाँती तरंग
• आवृत्ति ? सहित अज्यावक्रीय

उत्तर. आवृत्ति ? सहित अज्यावक्रीय

56. टेस्ला किसी इकाई है?
• विद्युत फ्लक्स घनत्व
• चुम्बकीय क्षेत्र तीव्रता
• विद्युत क्षेत्र तीव्रता
• चुम्बकीय फ्लक्स घनत्व

उत्तर. चुम्बकीय फ्लक्स घनत्व

57. बराबर धारिता मानों और 0.01 तथा 0.02 के शक्ति गुणकों वाले दो क्षयुक्त संधारित्र पार्श्व में हैं और संयोजन को पूर्ति एक ज्यावक्रीय वोल्टता स्रोत से की जाती है। संयोजन का शक्ति गुणक है?


• 0.03
• 0.015
• 0.01
• 0.0002

उत्तर. 0.015

58. इलेक्ट्रॉनिक परिपथों में, किसी वोल्टता सिग्नल के DC घटक को अवरुद्ध करने के लिए एक ……….. को वोल्टता स्रोत के साथ श्रेणी में संयोजित किया जाता है?
• संधारित्र
• डायोड
• प्रतिरोधक
• प्रेरक

उत्तर. संधारित्र

59. 3 henry और 12 henry स्वत: प्रेरकत्व और युग्मन गुणांक 0.85 वाली दो कुण्डलियों के बीच पारस्परिक प्रेरकत्व है?


• 12.75 Henry
• 5.1 Henry
• 0.425 Henry
• 1.7 Henry

उत्तर. 5.1 Henry

60. 20°C पर कॉपर का प्रतिरोध ताप गुणांक है?
• 0.0045/°C
• 0.0017/°C
• 0.00393/°C
• 0.0038/°C

उत्तर. 0.00393/°C

61. निम्न में से कौनसी विधि, तीन ध्रुवी गिलहरी के पिंजरे जैसी मोटर की गति नियंत्रण की विधि है?


• प्लगन विधि
• तार त्रिभुज स्विच विधि
• ध्रुव परिवर्तनीय विधि
• अपकेन्द्री क्लच विधि

उत्तर. ध्रुव परिवर्तनीय विधि

62. ऐम्पियर सेकण्ड किसका एकक है?


• वि.वा. बल (Emf)
• शक्ति
• विद्युत आवेश
• ऊर्जा

उत्तर. विद्युत आवेश

63. पिंजरी प्रेरण मोटर में, रोटर चालक होते हैं?
• विवृत परिपथित
• अंत्य वलयों के मार्ग से लघुपथित
• बाह्य प्रतिघात के मार्ग से लघुपथित
• बाह्य प्रतिरोध के मार्ग से लघुपथित

उत्तर. अंत्य वलयों के मार्ग से लघुपथित

64. अध्यारोपण प्रेमय को उतने की परिपथ सुलझाने की अपेक्षा होती है जितने


• निस्पंद (नोड) हों
• स्रोत हों
• पाश (लूप) हों
• इनमें से कोई नहीं

उत्तर. स्रोत हों

65. यदि किसी केबिल के 2m लम्बे प्रतिदर्श का विद्युतरोधन प्रतिरोध 10 M है, तो उसके 8m लम्बे प्रतिदर्श का विद्युतरोधन प्रतिरोध होगा?
• 40 Mᘯ
• 2.5 Mᘯ
• 2 Mᘯ
• 5.5 Mᘯ

उत्तर. 2.5 Mᘯ

66. चालक तार (lead) तथा सम्पर्क प्रतिरोधों के कारण त्रुटियों को न्यूनतम करने के लिए, वैद्युत मापन कार्य में प्रयुक्त न्यून प्रतिरोधों में लगाए जाते हैं?
• रक्षी वलय
• चार टर्मिनल
• मोटे विद्युतरोधन
• धातु के परिरक्षक

उत्तर. चार टर्मिनल

67. दो युग्मित कुंडलियाँ, जो श्रेणी में जुड़ी हैं जोड़ के आधार पर 16 mH या 8 mH के बराबर प्रेरक वाली हैं। तदनुसार उन कुंडलियों के बीच अन्योन्य प्रेरकत्व कितना होगा?
• 12 MH
• 8√2mH
• 4 MH
• 2 MH

उत्तर. 2 MH

68. परिपथ में नॉर्टन प्रमेय लागू करने का परिणाम होता है?
• एक धारा स्रोत और एक प्रतिबाधा पाश्र्व में
• एक वोल्टता स्रोत और एक प्रतिबाधा श्रेणी में
• एक आदर्श वोल्टता स्रोत
• एक आदर्श धारा स्रोत

उत्तर. एक धारा स्रोत और एक प्रतिबाधा पाश्र्व में

69. एक वोल्टमापी को dc पूर्ति के गिर्द संयोजित करने पर पाठ्यांक 124V है। जब पूर्ति के गिर्द वोल्टमापी का एक श्रेणी संयोजन और एक अज्ञात प्रतिरोध X को जोड़ दिया जाए, तो मापी का पाठ्यांक 4V होता है। यदि वोल्टमापी का प्रतिरोध 50 kᘯ है, तो X का मान है?
• 1550 Kᘯ
• 1600 Kᘯ
• 1.6 Kᘯ
• 1.5 Mᘯ

उत्तर. 1.5 Mᘯ

70. यदि किसी प्रत्यावर्ती वोल्टता की कोणीय आवृत्ति ω है, तो किसी ac परिपथ में अवशोषित तात्क्षणिक वास्तविक शक्ति की कोणीय आवृत्ति है?
• 2ω
• Ω
• 3ω
• Ω/2

उत्तर. 2ω

71. तरंग कुंडलित आर्मेचर वाली 6 – ध्रुवी d.c. मशीन के लिए, कितने ब्रुशों की जरूरत होती है?


• 2
• 4
• 6
• 12

उत्तर. 2

72. एक वोल्टता स्रोत जिसमें 150 V वोल्टता का खुला – परिपथ और 752 आंतरिक प्रतिरोध है, कितने मान की धारा-स्रोत के बराबर होगा?
• 752 के साथ श्रेणी में, 2A
• 3.752 के साथ समान्तर, 2A
• 752 के साथ समान्तर, 2A
• 1502 के साथ समान्तर 1A

उत्तर. 752 के साथ समान्तर, 2A

73. dc पाश्र्वपथ जनित्र का भार अभिलक्षण तय किया जाता है?


• आर्मेचर प्रतिरोध में वोल्टता पात द्वारा
• आर्मेचर प्रतिक्रिया के कारण वोल्टता पात, घटी हुई क्षेत्र धारा के कारण वोल्टता पात और आर्मेचर प्रतिरोध में वोल्टता पात द्वारा
• आर्मेचर प्रतिक्रिया के कारण वोल्टता पात और आर्मेचर प्रतिरोध में वोल्टता पात द्वारा
• आर्मेचर प्रतिक्रिया के कारण वोल्टता पात, घटी हुई क्षेत्र धारा के कारण वोल्टता पात, आर्मेचर प्रतिरोध तथा क्षेत्र प्रतिरोध में वोल्टता पात द्वारा

उत्तर. आर्मेचर प्रतिक्रिया के कारण वोल्टता पात, घटी हुई क्षेत्र धारा के कारण वोल्टता पात और आर्मेचर प्रतिरोध में वोल्टता पात द्वारा

74. स्टेयर केस वायरिंग के लिए कितने टू वे स्विचों की जरूरत होती है?
• 2
• 3
• 4
• 5

उत्तर. 2

Junior Engineer Electrical परीक्षाओं की तैयारी करने वाले सभी उम्मीदवारों के लिए इस पोस्ट में ssc je electrical question paper 2018 pdf ssc je electrical question paper pdf ssc je previous year question paper book pdfसे संबंधित काफी महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और इसके बारे में आप कुछ जानना यह पूछना चाहते हैं तो नीचे कमेंट करके अवश्य पूछे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button