कम्प्यूटर की संचार सुविधा अपग्रेड कैसे की जाती है

DWQA QuestionsCategory: Questionsकम्प्यूटर की संचार सुविधा अपग्रेड कैसे की जाती है
itipapers Staff asked 2 years ago

कम्प्यूटर की संचार सुविधा अपग्रेड कैसे की जाती है इंटरनेट के विभिन्न घटकों की व्याख्या कीजिए इंटरनेट द्वारा दी जाने वाली विभिन्न सेवाओं के बारे में लिखिए इंटरनेट की शुरुआत कब हुई इंटरनेट का इतिहास और विकास इंटरनेट का पुराना नाम क्या है अंग्रेजी में इंटरनेट का उपयोग करने वालों को कहा जाता है इंटरनेट क्या है विकिपीडिया कंप्यूटर नेटवर्क की आवश्यकता

1 Answers
itipapers Staff answered 1 year ago

आज इंटरनेट का जमाना है और इंटरनेट की वजह से ही कम्प्यूटर संचार का सबसे शक्तिशाली माध्यम बन गया है। कम्प्यूटर से संचार या कम्युनीकेशन को स्थापित करने के लिये आपके सिस्टम में मॉडेम का होना जरूरी है। यदि मॉडेम नहीं है तो निम्न प्रकार से इसे अपने कम्प्यूटर में इंस्टॉल किया जा सकता है

⇨ मॉडेम को आप अपने कम्प्यूटर सिस्टम में कार्ड के रूप में जोड़ सकते हैं। इसे इंटरनल मॉडेम भी कहा जाता है।

⇨ ऊपर दिये चित्र में जिस इंटरनल मॉडेम को दर्शाया गया है वह ISA स्लॉट में लगने वाला मॉडेम है। आजकल इस स्लॉट का चलन कम हो गया है और इसकी जगह पर PCI या AGP स्लॉट का प्रयोग किया जाने लगा है।

⇨ आपको यदि अपने कम्प्यूटर सिस्टम में मॉडेम को इंस्टॉल करना है तो उसे खोलें और यह पता लगायें कि इसके मदरबोर्ड में कौन कौन सी स्लॉट हैं। फिर उपलब्ध स्लॉट के अनुसार ही इंटरनल मॉडेम का चयन करें।

⇨ वैसे आप इंटरनल मॉडेम के स्थान पर एक्सटर्नल मॉडेम का प्रयोग भी कम्प्यूटर में कर सकते हैं।

⇨ एक्सटर्नल मॉडेम दो रूपों में आते हैं। एक को तो कम्प्यूटर की USB पोर्ट में जोड़ सकते हैं और दूसरे को कम्प्यूटर की लैन पोर्ट में।

⇨ यदि कम्प्यूटर में इंटरनल मॉडेम को प्रयोग करना है तो कम्प्यूटर में पॉवर सप्लाई को बंद करने के बाद उसकी कैबिनेट को खोलें और उसमें उपलब्ध खाली स्लॉट के अनुसार इंटरनल मॉडेम का चुनाव करें।

⇨ इंटरनल मॉडेम, जो एक कार्ड के रूप में होता है उसे मदरबोर्ड की खाली स्लॉट में इंसर्ट करें। इसके बाद कम्प्यूटर को ऑन करें।

⇨ ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में यदि माइक्रोसॉफ्ट विंडो इंस्टॉल हैं (जोकि ज्यादातर सिस्टमों में होता है) तो वह प्लग एंड प्ले क्षमता की वजह से मॉडेम को डिटेक्ट करेगी और आपसे इसके लिये ड्राइवर डिस्क की मांग करेगी।

⇨ इंटरनल मॉडेम के साथ आयी ड्राइवर डिस्क को कम्प्यूटर की सीडी या डीवीडी ड्राइव में लगायें और ड्राइवर को विंडोज़ में इंस्टॉल करें।

⇨ जब मॉडेम का ड्राइवर विंडोज़ में सफलतापूर्वक इंस्टॉल हो जायेगा तो कम्प्यूटर को रिस्टार्ट करें। विंडोज़ के दोबारा लोड होते ही मॉडेम कार्य करने के लिये तैयार हो जायेगा। अब आपको इसमें टेलीफोन लाइन की वह तार लगानी है जिससे इंटरनेट चलेगा। इंटरनेट चलाने के लिये विंडोज़ में नेट कनेक्शन की स्थापना करें। इसके लिये आपको ISP से इंटरनेट कनेक्शन खरीदना होगा।

⇨ कम्प्यूटर को एक्सटर्नल मॉडेम से अपग्रेड करना वर्तमान समय में इंटरनल मॉडेम के स्थान पर एक्सटर्नल मॉडेम का चलन बढ़ रहा है। इस समय निम्न प्रकार के एक्सटर्नल मॉडेम प्रयोग किये जाते हैं

⇨ लैन पोर्ट से जुड़ने वाले एक्सटर्नल मॉडेम यदि आप अपने कम्प्यूटर सिस्टम को उपरोक्त वर्णित किसी भी तरह के मॉडेम से अपग्रेड करना चाहते हैं तो इसके लिये कम्प्यूटर को खोलने की जरूरत नहीं होती है। यह कार्य निम्न प्रकार से किया जा सकता है

⇨ कम्प्यूटर की लैन पोर्ट से जुड़ने वाले मॉडेम को कम्प्यूटर में लगे RJ45 कनेक्टर से इसके लिये उपयुक्त केबल से जोड़े। इस कनेक्टर को ईथरनेट पोर्ट भी कहा जाता है। निम्न चित्र में इसे देख सकते हैं⇨ कम्प्यूटर से मॉडेम को लैन कार्ड और केबल के जरिये जोड़ने के बाद इसे उस टेलीफोन लाइन से जोड़े जिससे इंटरनेट कनेक्शन का प्रयोग करना है।

⇨ कम्प्यूटर सिस्टम को ऑन करें और मॉडेम के डिटेक्ट होने के बाद इसके ड्राइवर को इंस्टॉल करें। जब ड्राइवर इंस्टॉल हो जाये तो सिस्टम को रिस्टार्ट करके विंडोज़ में इंटरनेट कनेक्शन की स्थापना करें। इस तरह से आप अपने सिस्टम को मॉडेम से अपग्रेड कर सकते हैं।

⇨ यदि कम्प्यूटर की USB पोर्ट में मॉडेम को जोड़ना है तो इसके लिये कुछ खास नहीं करना होगा! यूएसबी पोर्ट से इस मॉडेम को जोड़े। विंडोज़ में मॉडेम के डिटेक्ट होने के बाद इसके ड्राइवर को इंस्टॉल करें। जब ड्राइवर इंस्टॉल हो जाये तो सिस्टम को रिस्टार्ट करके विंडोज़ में इंटरनेट कनेक्शन की स्थापना करें।

⇨ प्रत्येक कम्प्यूटर सिस्टम में एक से ज्यादा USB पोर्ट होती हैं, आप जिसमें चाहे उसमें मॉडेम लगा सकते हैं।

⇨ इस तरह के मॉडेम मोबाइल फोन तकनीक पर आधारित होते हैं और एयरटेल या वोडाफोन जैसी कम्पनी इन्हें उपलब्ध कराती हैं। इस मॉडेम के साथ इंटरनेट कनेक्शन भी आता है।

⇨ इस समय ब्रॉडबैंड वाले इंटरनेट कनेक्शन के लिये सबसे ज्यादा वाइ-फाई राउटर वाले एकस्टर्नल मॉडेम प्रयोग किया जाते हैं।

⇨ इन्हें किसी कम्प्यूटर से एक बार जोड़कर कॉन्फीगर करते हैं। इस प्रक्रिया में लैन केबल के जरिये मॉडेम को किसी एक कम्प्यूटर से जोड़ते हैं और उसकी सेटिंग करते हैं।

⇨ इसके बाद केबल निकाल कर, इसकी वाइ-फाई सुविधा के द्वारा लैपटॉप, डेस्क्टॉप और आई-पैड जैसी डिवाइसों को इससे जोड़कर इंटरनेट का प्रयोग करते हैं।

Back to top button