यूपीएस में खराबी का पता कैसे किया जाता है

DWQA QuestionsCategory: Questionsयूपीएस में खराबी का पता कैसे किया जाता है
itipapers Staff asked 2 years ago

यूपीएस में खराबी का पता कैसे किया जाता है  इन्वर्टर समस्याओं सबसे अच्छा इन्वर्टर बैटरी की ग्रेविटी कैसे बढ़ाये इनवर्टर कितने का आता है इन्वर्टर की जानकारी बैटरी चार्ज नहीं हो रही है इन्वर्टर बैटरी में पानी डालने का तरीका इन्वर्टर बैटरी की जानकारी

1 Answers
itipapers Staff answered 1 year ago

कम्प्यूटर के साथ प्रयोग किये जाने वाले UPS एक साल या दो साल तक तो सही ढंग से काम करते हैं, इसके बाद इनके प्रयोग में परेशानी आने लगती है। यह पता लगाने के लिये किस यूपीएस में क्या खराबी है, निम्न बातों का ध्यान रखें –
⇨ यदि यूपीएस का बैकअप समय बहुत कम हो गया है तो इसका एक कारण यह हो सकता है इसकी बैटरी अच्छी तरह से चार्ज न हों। ऐसी स्थिति में यूपीएस के साथ आये मैन्युअल या दस्तावेजों को ध्यान से पढ़ें और यह पता लगायें कि इसमें चार्जर से सम्बन्धित फ्यूज कहां है। से इसके बाद इस फ्यूज की जांच करें और यदि यह खराब है तो इसे बदल दें और कुछ घंटों के लिये यूपीएस को ऑन रहने दें जिससे कि बैटरी अच्छी तरह से चार्ज हो जाये।
⇨ यदि यूपीएस में चार्जिंग का फ्यूज सही है और फिर भी बिजली जाने पर बैकअप का समय कम है तो इसका अर्थ है कि बैटरी खराब हो गयी हैं और इनके बदलने का समय आ गया है। ऐसी अवस्था में यूपीएस को मेन पॉवर सप्लाई से डिस्कनेक्ट करने के बाद, उससे बैटरियों को डिस्कनेक्ट करें और नयी बैटरियां लगा दें।
⇨ जिस समय यह काम कर रहे हों, उस समय यूपीएस का ऑन/ऑफ स्विच बंद होना चाहिये।

⇨ यदि यूपीएस में इंटरनल बैटरियों का प्रयोग किया गया है तो यूपीएस की मेन विद्युत आपूर्ति को बंद करें और इसके ऑन/ ऑफ स्विच को भी बंद करें। इसके बाद इसके कवर को खोलें और इसकी पीसीबी (PCB) से बैटिरयों के कनेक्टर अलग करें।

⇨ कनेक्टर अलग करने के बाद बैटरियों को यूपीएस से इन्हें निकाल लें और इनके स्थान पर नई बैटरियां लगा दें। नयी बैटरियां लगाने के बाद यूपीएस की पीसीबी से सही कनेक्शन करें और यूपीएस को ऑन करके इस बाच की जांच करें कि यूपीएस ठीक तरह से काम कर रहा है या नहीं।

⇨ यदि यूपीएस ठीक ढंग से काम कर रहा है तो इसका कवर बंद करें और इसमें मेन विद्युत सप्लाई चालू करें। लगभग आठ घंटे तक इसे ऑन रहने दें जिससे कि इसमें इंस्टॉल की गयी नयी बैटरियां पूरी तरह से चार्ज हो जायें और आपको बिजली जाने पर पूरा बैकअप मिल सके।

⇨ पर्सनल कम्प्यूटरों के साथ प्रयोग होने वाले ज्यादातर UPS 12V TAh से लेकर 12V 7.2Ah की बैटरियां प्रयोग करते हैं। नयी बैटरी लगाते समय इस बात को सुनिश्चित करें बैटरी इसी रेंज के अंतर्गत आ रही है या नहीं। यदि आप इसके स्थान पर 12V 7.8Ah की बैटरी लगा देंगे तो यह काम नहीं करेगी। इसलिये बैटरी के मॉडल की जांच ध्यानपूर्वक करें।

⇨ कई बार मेन पॉवर सोर्स से बिजली आ रही होती है लेकिन यूपीएस मेन से ऑन न होकर बैटरी से ऑन होता है और बैटरी की चार्जिंग भी नहीं करता है।

⇨ ऐसी अवस्था तब आती है जब यूपीएस में लगा मेन पॉवर सप्लाई वाला फ्यूज खराब हो जाता है। अत: इस फ्यूज को बदल दें। यूपीएस को ऑन करके देखें, यदि दोबारा ऑन करने पर यह फ्यूज फिर से उड़ जाता है तो इसका अर्थ है कि यूपीएस के सर्किट अर्थात PCB में कोई खराबी आ गयी है।

⇨ ऐसी अवस्था में आपको इस PCB को बदलना होगा। आजकल ये किट के रूप में बाजार में मिलती हैं।

⇨ यूपीएस की पीसीबी को बदलने से पहले इसे बात की जांच भी करें कि आपके यहां मेन पॉवर सप्लाई कहीं यूपीएस की इनपुट क्षमता से ज्यादा तो नहीं आ रही है। इसके लिये मल्टीमीटर का प्रयोग करें। यदि यह ज्यादा तो अर्थ के लीकेज की जांच करें।

⇨ सामान्य रूप से किसी भी तरह के यूपीएस में आयी खराबी का पता लगाने के लिये निम्न स्टेप्स का पालन करें

⇨ सबसे पहले यूपीएस की मेन पॉवर सप्लाई को बंद करें। ए इसके साथ आये दस्तावेजों को पढ़ें और इस बात का पता लगायें कि इसमें कितने फ्यूज प्रयोग हुए हैं। इन सभी फ्यूजों की जांच करें। अगर ये खराब हैं तो इन्हें बदल दें। ज्यादातर 5A और 3A फ्यूज की प्रयोग किये जाते हैं।

⇨ यूपीएस के स्क्रू खोलकर इसके कवर को हटायें। अब लाल और काली तारों को बैटरी से अलग कर दें।

Back to top button