Answer for सर्च इंजन के क्या फंक्शन होते है

नेट सर्किंग को आसान बनाने और अपनी जरूरत की सूचनाओं को आसानी से हासिल करने के लिए सबसे उपयोगी समाधान है सर्च इंजन। अभी भी भारत में सर्च इंजनों को ज्यादा नहीं जाना गया है, लेकिन दुनिया के विकसित और विकासशील देशों में इनका खूब इस्तेमाल होता है। भारत में भी बहुत लोकप्रिय है, इसीलिये दुनिया के कुछ महत्वपूर्ण सर्च इंजनों जैसे- याहू, एमएसएन, गूगल्स आदि पर भारत के बारे में भी ढेरों सूचनाएं दर्ज हैं। अगर इन सर्च इंजनों का इस्तेमाल समझ के साथ किया जाए तो कम समय में ज्यादा सूचनाएं हासिल की जा सकती हैं। जो लोग सर्च इंजनों का इस्तेमाल करते हैं उन्हें भी इसकी तकनीक और ज्यादा बेहतर इस्तेमाल के तरीके की जानकारी नहीं होती है।
 
अगर सर्च इंजनों की तकनीक को समझ लिया जाए, तो इसका और बेहतर इस्तेमाल हो सकता है। जैसे-जैसे सर्च इंजनों की लोकप्रियता बढ़ रही है, वेब कंपनियां खुद को सर्च इंजनों पर दर्ज करने की कोशिशें तेज कर रही हैं। ज्यादातर वेब कंपनियां, वेबसाइट, कंटेंट तैयार करने वाली कंपनियां, नेट अखबार, नेट पत्रिकाएं
 
आदि अपनी ज्यादा-से-ज्यादा सूचनाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए सर्च इंजन पर खुद को दर्ज करा रही हैं। इनका लाभ यह होता है कि सर्च इंजन के जरिए जरूरी सामग्री की खोज कर रहा उपयोक्ता उनकी साइट पर पहुंचता है। जिससे उनके उपयोक्ताओं की संख्या में इजाफा होता है। ज्यादा-से-ज्यादा उपयोक्ताओं को अपनी ओर खींचने के लिए वेबसाइट अपनी सूचनाओं को सर्च इंजन पर ऐसे दर्ज कर रही हैं, जिससे उपयोक्ता आसानी से वहां तक पहुंच सके। इसका सीधा मतलब यह है कि उपयोक्ता को अपनी जरूरत की सूचना तलाश करने के लिए किसी तकनीकी जटिलता में नहीं पड़ना है, बल्कि उसको सीधे अपनी जरूरत की चीज का नाम दर्ज करना है। अगर उपयोक्ता को किसी बहुत छोटी चीज की तलाश करनी है तो उसे उस छोटी चीज का नाम भी सर्च इंजन में डालने से नहीं हिचकना चाहिए। लेकिन इससे भी पहले उपयोक्ता को अपनी जरूरत के सर्च इंजन में डालने से नहीं हिचकना चाहिए।
 
लेकिन इससे भी पहले उपयोक्ता को अपनी जरूरत के सर्च इंजन की भी पहचान होनी चाहिए। अपनी सूचना तलाश करने से पहले सबसे जरूरी सर्च इंजन की पहचान है। इंटरनेट पर सूचनाओं की तलाश को आसान बनाने के लिए मूल रूप से तीन किस्म के समाधान हैं- इनमें पहला है सर्च इंजन, दूसरा है सब्जेक्ट डायरेक्टरी और तीसरा है मेटा सर्च इंजन।

Back to top button