Answer for सामन्य सर्च इंजन से आप क्या समझते है

यह नेट पर सूचना तलाश का सबसे आसान साधन है। सर्च इंजन की साइट पर सर्च के लिए बनी खाली जगह में उपयोक्ता कुछ भी टाइप कर उसकी तलाश कर सकता है। इसमें आसानी यह होती है कि उपयोक्ता को अपनी जरूरत की चीजें मिल जाती हैं। लेकिन इसमें मुश्किल यह है कि सर्च इंजन से तलाश करने पर उपयोक्ताओं को अपनी जरूरत से ज्यादा ढेर सारी चीजें मिल जाती हैं, जिनमें उपयोक्ता को अपनी जरूरत की खास चीज तलाश करनी होती है। सर्च इंजनों पर ढेरों साइटों के नाम दर्ज होते हैं, इसलिए किसी खास साइट की तलाश कर रहे सर्फर को तो इसका लाभ मिल जाता है, लेकिन विषयवार कोई सामग्री खोज रहे उपयोक्ता को इसका लाभ नहीं मिल पाता है, क्योंकि इनके ऊपर साइटों के नाम विषयवार दर्ज नहीं किए जाते हैं। चूंकि सर्च इंजन ज्यादा संख्या में हैं, इसलिए उपयोक्ता की इन तक पहुंच आसान होती है, लेकिन इनमें तलाश मुश्किल होती है और उपयोक्ता को अपनी जरूरत की चीज के लिए काफी काट-छांट करनी होती है। लेकिन अगर आपको अपनी तलाश की चीज के बारे में पक्की जानकारी हो तो सर्च इंजन पर तलाश आपके लिए काफी आसान है।
 
सर्च इंजन स्वचालित एजेंटों के जरिए काम करता है, जिन्हें नेट की भाषा में रोबोट या स्पाइडर कहते हैं। इन्हें अलग-अलग साइटों पर दर्ज सूचनाओं के बारे में जानकारी होती है या उपयोक्ता की तलाश के जवाब में ये सूचानाओं की खोज कर उनकी साइटों के नाम उपयोक्ता के सामने पेश करते हैं। फिलहाल ऐसा कोई सर्च इंजन नहीं है, जिसे किसी खास विषय के लिए जाना जाता हो, इसलिए उपयोक्ता अलग-अलग सूचनाओं के लिए किसी भी सर्च इंजन का इस्तेमाल कर सकता है। अब तक के आंकड़ों के मुताबिक Google.com सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला इंजन है। सर्च इंजनों का इस्तेमाल करने वाले 90 फीसदी उपयोक्ता इसका इस्तेमाल करते हैं। वेब पेजों की संख्या के लिहाज से गूगल ज्यादा व्यापक सर्च इंजन है। अब तक गूगल पर पंद्रह अरब वेब पेज हैं। याहू, गूगल और अल्टविस्टा के अलावा बिंग, जादू, हॉट बॉट आदि कुछ प्रमुख सर्च इंजनों के नाम हैं। विषयों के अलावा तस्वीरों के लिए भी सर्च इंजन का इस्तेमाल आम हो गया है। ज्यादातर सर्च इंजनों ने तस्वीरों की सर्च के लिए अलग हिस्सा बना रखा है।
 
गुगल और बिंग को इमेज या फोटो के लिए सबसे उपयुक्त सर्च इंजन माना जाता है। आम तौर पर सामयिक घटनाओं की तस्वीरें दूसरी जगह से उपलब्ध नहीं हो सकती हैं, लेकिन सर्च इंजनों पर इन्हें आसानी से खोजा जा सकता है। ताजा घटनाओं की तस्वीरों के अलावा दुर्लभ तस्वीरें भी इसने तलाश की जा सकती हैं इसके अलावा उच्च रेजोल्यूशन की इमेज भी प्राप्त की जा सकती हैं।

Back to top button