ट्रैक्टर ट्रेलर Tractor Trailer क्या होता है ?

DWQA QuestionsCategory: Questionsट्रैक्टर ट्रेलर Tractor Trailer क्या होता है ?
itipapers Staff asked 10 months ago

ट्रैक्टर ट्रेलर Tractor Trailer क्या होता है ? ट्रैक्टर के पुराने टायर ट्रैक्टर की कीमत 2022 श्रीराम फाइनेंस पुराने ट्रैक्टर ट्रैक्टर टायर की कीमत 13 6 28 ट्रैक्टर के टायर की कीमत Up में बिक्री के लिए पुराने ट्रैक्टर पुराने रोटावेटर कल्टीवेटर कीमत

1 Answers
itipapers Staff answered 10 months ago

यह एक बड़ा ट्रैक्टर होता है, जिसमें दो भाग होते हैं, एक आगे ड्राइवर के लिए तथा एक पीछे सामान ढुलाई के लिए होते हैं। दो भागों के बीच संयोजन, मोड़ पर ट्रैक्टर को घुमाव के लिए सहायता प्रदान करता है।

थ्रेशर Thrasher
थ्रेशर एक प्रकार का कृषि उपयोगी उपकरण है, जिसे ट्रैक्टर पुली एवं विद्युत मोटर द्वारा क्रियाशील बनाया जाता है। इसके उपयोग से पूर्व गेहूँ की फसल को काटकर इकट्ठा किया जाता है। तत्पश्चात् ही यह निम्न कार्य करने में सक्षम बन पाता है
1. श्रेशिंग (Thrashing) गेहूँ के पौधों को तोड़ने का कार्य करता है।
2. सेपेरेटर (Seperator) गेहूँ से गाँठे (cheff), स्टो (stow) तथा भूसा आदि को अलग करता है।
3. क्लीनर (Cleaner) सफाई करता है।

पुल्ड थ्रेशर Pulled Thrasher
ट्रैक्टर के पीछे हिच से और एक आवश्यक उपकरण पुल्ड थ्रेशर ‘हर्विस्टर’ (harvester) लगाकर कार्य किया जाता है। यह P.T.O शाफ्ट से चलाया जाता है। यह खेत में खड़े गेहूँ को काटने के बाद गेहूँ और भूसे को अलग करता है। इससे निकला हुआ गेहूँ ट्रॉली में इकट्ठा होता रहता है और भूसा खेत में गिरता जाता है। यदि चाहें तो भूसा भी दूसरी ट्रॉली में इकट्ठा किया जा सकता है। इस प्रकार के श्रेशर में पौधों को मोड़ने के लिए गोल लम्बे तारों वाला सिलेण्डर होता है। इसमें नीचे लगे ब्लेड (cutter) पौधों को मोड़ते हैं, जहाँ ब्लेड दाएँ-बाएँ चलते रहते हैं। तारों वाला सिलेण्डर पौधों को अन्दर वाले सिलेण्डर में धकेलता है, जहाँ पर एक नीचे आधी गोलाई के लिए बॉक्स होता है। इसमे थोड़े-थोड़े फासले पर चौकोर सरिये लगे होते हैं इसके ऊपर लगा सिलेण्डर भी लम्बी पत्तियों की तरह लगा होता है, जो पौधों को तेजी से काटता है। यहीं पर हवा के लिए ब्लोअर (blower) होता है, जो हल्की चीज भूसे को गेहूँ से अलग करता है। यहाँ गेहूँ के लिए बोरी का भी प्रयोग कर सकते हैं। यही प्रक्रिया खड़े प्रेशर में भी अपनायी जाती है। अन्तर केवल इतना है कि उसमें पौधों को पहले हाथ से (दरांती) से काटकर एक स्थान पर इकट्ठा कर लिया जाता है और थ्रेशर में व्यक्ति द्वारा गेहूँ के बने बण्डल (पुली) को धकेला जाता है। इस प्रकार दोनों थ्रेशरों को गेहूँ के साफ न होने पर, न कटने पर भूसा अलग न होने पर, नीचे वाले बॉक्स को ऊपर-नीचे व ब्लोअर को खिसकाकर एडजस्ट (adjust) कर सकते हैं।

Back to top button