वेब ब्राउजरों की क्या विशेषतायें होती है

DWQA QuestionsCategory: Questionsवेब ब्राउजरों की क्या विशेषतायें होती है
itipapers Staff asked 2 years ago

वेब ब्राउजरों की क्या विशेषतायें होती है वेब ब्राउज़र के कार्य वेब ब्राउज़र क्या है वेब ब्राउज़र कितने प्रकार के होते हैं वेब ब्राउज़र का उदाहरण है वेब ब्राउज़र के नाम भारतीय वेब ब्राउज़र वेब ब्राउज़र वीडियो निम्न में कौन एक वेब ब्राउज़र का प्रकार नहीं है

1 Answers
itipapers Staff answered 12 months ago

वर्तमान समय में प्रयोग किये जा रहे वेब ब्राउजरों में निम्न विशेषतायें होती हैं
– वेब ब्राउजर टेक्स्ट, इमेज, ऑडियो, एनीमेशन और वीडियो जैसे सभी तरह के कंटेंट को सपोर्ट करते हैं।
आज के लगभग समस्त वेब ब्राउजर प्रोटोकॉल्स और फाइल फारमेटों की बड़ी संख्या को सपोर्ट करते हैं।
• कई ब्राउजर जैसे कि इंटरनेट एक्सप्लोरर और गुगल क्रोम कुछ अतिरिक्त कम्पोनेन्ट जैसे कि ई-मेल, Usenet न्यूज, इंटरनेट रिले चैट इत्यादि को भी सपोर्ट करते हैं।
वर्तमान समय में प्रयोग किये जाने वाले वेब ब्राउजर एक समय में अलग-अलग तरह की तमाम वेब साइटों को एक साथ खोल सकते हैं। इस प्रक्रिया में प्रत्येक वेबसाइट के लिये अलग-अलग टैब या विंडो खुलती है।
• वेब ब्राउजरों में पॉप-अप ब्लॉकिंग नामक एक विशेष सुविधा होती है जिसकी वजह से यूजर की अनुमति के बिना अनावश्यक सूचना आपके सामने डिस्प्ले नहीं हो सकती है।
वेब ब्राउजरों में खोली गयी वेबसाइटों की हिस्ट्री स्टोर हो जाती है जिससे आप यह जान सकते हैं कि किस दिन और किस समय कौन सी वेब साइट को खोला गया था।
वेब ब्राउजरों में बुक मार्क नामक एक ऐसी सुविधा होती है जिसकी वजह से आप अपनी पसंद की वेबसाइट को फेवरेट वेबसाइट बनाकर मार्क कर सकते हैं और कभी भी बिना वेब साइट के पते के खोल सकते हैं।
– वेब ब्राउजरों में सिस्टम सिक्योरिटी को लेकर कुछ फीचर होते हैं जिससे आप किसी खास विषय से सम्बन्धित वेब साइटों को अपने सिस्टम में खुलने से रोक सकते हैं।
वेब ब्राउजरों में एक और विशेषता यह होती है कि आप इसे अपनी आवश्यकता के अनुसार कस्टमाइज कर सकते हैं। इससे ब्राउजर की कार्य क्षमता में बढ़ोत्तरी हो जाती है और इसकाउंटरफेस हमारे सुविधा के अनुसार डिस्प्ले होता है।
वेब ब्राउजरों में किसी भी वेबसाइट के किसी भी वेब पेज को प्रिंट करने और सेव करने की सुविधा भी होती है।
– वेब ब्राउजरों में किसी भी वेबसाइट के किसी भी वेब पेज के सोर्स कोड को HTML में डिस्प्ले करने की क्षमता होती है।
– ज्यादातर वेब ब्राउजर HTTP सिक्योर को सपोर्ट करते हैं जिसकी वजह से वेब कैश (Web Cache) को आसानी से डिलीट किया जा सकता है। इसमें कुकीज़ और वेब हिस्ट्री शामिल होती है।

Back to top button