स्मार्ड डिवाइसों की देखरेख कैसे होती है

DWQA QuestionsCategory: Questionsस्मार्ड डिवाइसों की देखरेख कैसे होती है
itipapers Staff asked 2 years ago

स्मार्ड डिवाइसों की देखरेख कैसे होती है Smart device for TV Smart electronic devices for home List of smart devices Alexa smart devices Smart Home appliances Amazon india Smart home devices 2021 Amazon Smart TV

1 Answers
itipapers Staff answered 12 months ago

जब स्मार्ट और मोबाइल डिवाइसों का चलन आम हो गया है तो इनके देखरेख की समस्या भी सामने आयेगी। आइये जानें कि इनकी देखरेख कैसे की जाये जिससे ये लंबे समय तक बिना खराब हुए चल सकें

– स्मार्टफोन्स से जुड़ी सबसे आम शिकायत बैटरी चुक जाना और सॉफ्टवेयर ओएस (ऑपरेटिंग सिस्टम) हैंग होना होता है। करीब चालीस प्रतिशत स्मार्टफोन वारंटी में होते हैं और हमारे पास गलत इस्तेमाल किए जाने के कारण पहुंचते हैं।

– हैंड कम्प्यूटिंग के विशेषज्ञ कहते हैं, कई लोग ब्ल्यूटूथ को तब भी चलता छोड़ देते हैं जब वे उसे इस्तेमाल नहीं कर रहे होते । जीपीएस, वाईफाई और 3G से संबंधित मामलों में भी ऐसा ही होता है।

– दरअसल यह इन उपकरणों की ऊर्जा-खाऊ क्षमता है जो एक दिन में बैटरी की अधिकांश ऊर्जा का दोहन कर लेती हैं। इस्तेमालकर्ता को उसे डिसेबल्ट कर देना चाहिए और तभी इस्तेमाल करना चाहिए जब उसकी जरूरत हो, जैसे कि जब फाइल ट्रांसफर करनी हो या नेट इस्तेमाल करते समय।

– विशेषज्ञों के अनुसार, ध्यान रखें कि अपकी अंगलियों से एंटीना ढंक न जाए। इससे फोन को सिग्नल पकड़ने के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ता है और बैटरी अधिक खर्च होती है।

→ ओवरचार्ज करना एक अन्य समस्या है। स्मार्टफोन 1 से 3 घंटे में चार्ज होता है। आप कभी रात भर स्मार्टफोन को चार्ज पर लगाकर न रखें, क्योंकि इससे शर्तिया आपकी बैटरी खराब होगी। बैटरी खराब होने की एक अन्य वजह है कि उसके पूरी तरह से खाली हो जाने से पहले ही उसे चार्ज पर लगा देना।

– जब आप स्मार्ट फोन पर इंटरनेट ब्राउजिंग करते हैं तो फ्लैश एनिमेशन ओर पिक्चरों वाली मल्टीमीडिया वेबसाइट्स देखते समय रफ्तार धीमी पड़ जाती है और डाउनलोड धीमी गति से होता है, ऐसे में भी बैटरी अधिक इस्तेमाल होती है। आपको अपने ब्राउजर विकल्प को केवल टेक्स्ट के लिए ही इस्तेमाल करना चाहिए।

– बैटरी लीक करने की एक अन्य वजह आपकी ईमेल आते ही उसके बारे में तुरंत जानना चाहते हैं, लेकिन उसके अतिरिक्त आपके सोशल सर्विस नेटवर्क के लगातार अपडेट होने की इतनी जरूरत नहीं होती।

– ट्विटर, फेसबुक, लिंक्डइन, एमएसएन, जीमेल ओर जीटॉक जैसी थर्ड पार्टी एप्लीकेशंस भी इंटरनेट से लगातार डेटा प्राप्त करती हैं। इनमें रिफ्रेश टाइमलाइन बीस मिनट से एक घंटा तक होती है।

इसके अलावा, मौसम की जानकारी जैसी सूचनाएं भी होती हैं जो तब भी चलती रहती हैं जब आप उनका इस्तेमाल नहीं करते औरवह भी आपकी बैटरी की आयु पर असर डालती हैं ऐसी एप्लीकेशंस को अनइंस्टॉल करें। आप उन्हें बाद में कभी पुन: इंस्टॉल कर सकते हैं। कॉम्प्लेक्स गेम्स, फ्लैश बेस्ड एप्लीकेशंस जो काफी मेमोरी लेकर सीपीयू को थकाती है, बैटरी चुकने का कारण बनती हैं। |

Back to top button