WEIGHT MANAGEMENT क्या होता है

DWQA QuestionsCategory: QuestionsWEIGHT MANAGEMENT क्या होता है
itipapers Staff asked 3 years ago

WEIGHT MANAGEMENT क्या होता है मोटा होने के लिए प्रोटीन पाउडर मोटे होने का पाउडर महिलाओं के लिए वजन बढ़ाने के लिए की खुराक शरीर वजन प्रबंधन को प्रभावित करने वाले कारक पेट की चर्बी कम करने वाली बेल्ट पतंजलि प्रोटीन पाउडर फॉर वेट गेन Hindi बिना किसी दुष्प्रभाव वजन बढ़ाने के लिए सबसे अच्छा प्रोटीन पाउडर वेट गेन सिरप फॉर लेडीज

1 Answers
itipapers Staff answered 11 months ago

WEIGHT MANAGEMENT क्या होता है
Weight Management से आप अपने शरीर को अच्छी तरह फिट और तंदुरुस्त रख सकते हो। इसमें संतुलित भोजन खाना और कसरत करके अपने शरीर को सही ढंग से रखना ज़रूरी है। अच्छा और संतुलित भोजन खाने की आदत ही हमें देर तक weight management को सही रखने में सहायक है। हमारे शरीर को किस तरह के भोजन की आवश्यकता है और किस तरह हम अपने शरीर का भार संतुलन बनाये रख सकते हैं, हमें इन सब बातों की जानकारी होनी चाहिए। हम किस तरह के खाने पर कन्ट्रोल करके अपने शरीर का भार संतुलन रख सकते हैं, इसका भी हमें इसका ख्याल रखना चाहिए। डाईट करके हम अपने शरीर का भार संतुलन नहीं बना सकते। डाईट करने से भार एकदम कम तो हो जायेगा, परन्तु इसका परिणाम ज्यादा देर तक नहीं रहेगा। इसलिए अपने शरीर के भार का संतुलन रखने के लिए हमें सही तरीके अपनाने चाहिएं।

भार को संतुलन में कैसे रखे
1. खाने में अधिक मात्रा प्रोटीन की बढ़ानी।
2. रेशों वाली चीजें खाना।
3. ज़्यादा सूप पीना।
4. कम कैलोरीज़ वाला भोजन लेना।
5. हरी चाय का प्रयोग करना।
6. स्टार्च विरोधी भोजन लेना।
7. ज्यादा सब्जियों का प्रयोग करना।।
8. डेयरी चीज़ों का प्रयोग करना जिनमें कस फैर हो।
9. मसालों का कम प्रयोग करना।
10. कॉफी का प्रयोग करना।
11. छोटी प्लेट में खाना। .

1. प्रोटीन का अधिक प्रयोग-भोजन में प्रोटीन की अधिक मात्रा नाश्ते के समय में लेनी चाहिए। प्रोटीन में कार्बोहाइड्रेटस और फैट को कम करने की ताकत है। ज़्यादा प्रोटीन वाली चीजें खाने से शरीर को पोषक तत्त्वों की प्राप्ति होती है और शरीर को बीमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है। ज्यादा प्रोटीन नाश्ते में लेने से ग्लूकोज़ की मात्रा बढ़ती है जोकि शरीर के मोटापे को कम करके शरीर का भार संतुलन बनाए रखने में मदद करती है। इसलिए प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाकर हम अपने शरीर का भार संतुलन कायम रख सकते हैं और मोटापे पर कन्ट्रोल कर सकते हैं।

2. रेशों वाली चीजें खाना-रेशों वाली चीजें खाने से शरीर का भर संतुलन बना रहता है। Fibre न पचने योग्य पदार्थ कार्बोहाइड्रेटस और लिगनिन को पचाने में सहायता करता है। यह पौधों का भी एक हिस्सा ही होता है। हमारे भोजन में 10-13 ग्राम Fibre ज़रूरी होने चाहिएं और व्यक्तियों में इससे अधिक Fibre होने चाहिएं। Fibre वाले भोजन में पानी की मात्रा बहुत होती है। .Fibre भरा भोजन अच्छी तरह चबाकर खाने से यह हमारी बढ़ती भूख को शांत करता है। शर्करा को घटाता है, CCK में छोटी आंत को बढ़ाता है। खून में ग्लूकोज़ की मात्रा पर नियन्त्रण रखता है। Fibre भरा भोजन खाने से हमारी भूख निर्यात्रत रहती है। यदि हम Fibre भरा भोजन सुबह के समय खायें तो हमें दोपहर के खाने की ज़्यादा आवश्यकता नहीं पड़ती।

3. अधिक सूप पीना-सूप भी हमारे शरीर के लिए ज़रूरी होता है। सूप हमारे शरीर को एनर्जी देता है। ठोस पदार्थ खाने से सूप हमारी भूख को शांत करता है। सूप खाने की ऊर्जा शक्ति को घटाता है। भोजन करने से पहले यदि हम सूप पियें तो 20% ऊर्जा शक्ति वाला भोजन हमें प्राप्त हो जाता है।

4. कम कैलोरीज़ वाला भोजन लेना-कैलोरीज़ की कम मात्रा लेने से भी हमारे शरीर का भार कम ही रहता है, जिससे कि हमारे शरीर का संतुलन बना रहता है। यदि हम Black Coffee का प्रयोग करेंगे तो हम कैलोरीज़ से बचे रहेंगे। कम Fat वाला भोजन हमारी कैलोरीज़ को घटाता है और कोलेस्ट्रोल को कम करने में सहायता करता है। साधारण भोजन में 19.2% Fat और 272 kcal per 100 g of meat और दूसरा lean patties 9.8 fat और 196 kcal.

5. हरी चाय का उपयोग करना-हरी चाय खून में शर्करा को घटाने में सहायक होती है। हरी चाय ऊर्जा शक्ति को बढ़ाने में सहायक होती है। मोटापे को घटाती है। यदि हम रोज़ाना हरी चाय का प्रयोग करें, जिसकी मात्रा 690 mg हो तो 12 हफ्तों में ही हमारे शरीर का मोटापा घटना शुरू हो जायेगा। हरी चाय हमारे शरीर के लिए विशेष महत्त्व रखती है।

6. स्टार्च रहित भोजन-स्टार्च रहित भोजन न पचने योग्य भोजन होता है। यह पके हुए भोजन में, आलुओं में, हरे केले में, फलियों में होता है। यह भोजन में स्टार्च की मात्रा को पतला करता है। PYY के बढ़ने में सहायक | होता है। GLP-1 में पेट बढ़ने से रोकने में सहायक होता है। इससे पेट के हार्मोन्स काफी देर तक ऊर्जा शक्ति युक्त रहते हैं। इससे शरीर और आंतों में भी अच्छा प्रभाव पड़ता है। रिसर्च से पता लगा है कि यह शरीर के भार का संतुलन बनाये रखने में सहायक होता है।

7. सब्जियों का अधिक प्रयोग-फल और सब्जियां हमारी ऊर्जा शक्ति को बढ़ाते हैं और भूख को शांत करते हैं। इसमें कम ऊर्जा होती है। इसमें पानी की मात्रा अधिक होती है, जोकि Fibre का ही एक हिस्सा है। पानी में कैलोरीज़ और Fibre की मात्रा होने से शरीर का भार संतुलित बना रहता है।

8. डेयरी पदार्थ जिनमें Fat न हो-डेयरी पदार्थ का कम प्रयोग करने से भी हमारे शरीर में से Fat की मात्रा कम होती है। Saturated, Monounsaturated और Polysaturated Fat Calcium को बढ़ाती है। अधिक Calcium 2300 mg और कम Calcium 700 mg होता है।

9. कम मसालों का प्रयोग-मसालों का ज़्यादा प्रयोग सुबह के भोजन में करने से 23% वृद्धि होती है। गर्म मसाले जिनमें लाल मिर्च और काली मिर्च होती है, ज़्यादा मसाले खाने से कम ऊर्जा शक्ति प्राप्त होती है। शरीर का भार बढ़ता है। इसलिए कम मसालों का ही प्रयोग करना चाहिए।

10. कॉफी का प्रयोग-कॉफी हमारे शरीर के भार को घटाने में सहायक होती है। कॉफी में methylxanthines होता है जो कॉफी, चाय, कोको और कोल्ड ड्रिंक्स में भी पाया जाता है। यह शरीर की energy को और बढ़ाने व नियन्त्रण करने में सहायक होता है।

11. छोटी प्लेट का प्रयोग करना-जितनी छोटी से छोटी प्लेट हम खाने के लिए प्रयोग करेंगे, हमारी सेहत के लिए ज्यादा अच्छी होगी। छोटी प्लेट में खाना थोड़ा पड़ेगा और हमारी भूख थोड़ा खाकर शांत हो जायेगी। इसलिए हमें खाने की छोटी प्लेट लेनी चाहिए। .

Back to top button